सतयुग की ओर बढते कदम  का अभिनंदन, अब समय नही है,शिघ्र संपूर्ण बनने का डबल पुरूषार्थ करें : बीके मीना

3 Min Read
  • भारत मे शिघ्र देवी देवताओं का आगमन होगा-बीके अशोक वर्मा
मोतिहारी : समय की समीपता अब स्पष्ट दिख रही है,सतयुगी दुनिया अब सन्निकट है,अब साधारण धीमी गति के पुरुषार्थ का समय नही रहा, डबल लाईट फरिस्ता बनने का पुरुषार्थ करने की जरुरत है।समय का बदलाव ,प्राकृतिक हलचल,विपरित परिस्थिति,अचानक का पार्ट,हाहाकार आदि बढेंगे ,यही समय है अशरीरी के अभ्यास का क्यों कि वही अंत मे काम आयेगा।उक्त बाते ब्रह्माकुमारीज  बनियापट्टी सेवाकेन्द्र द्वारा आयोजित नव वर्ष अभिनंदन समारोह के उद्घाटन  पर वरिष्ठ राजयोगिनी बीके मीना दीदी ने कही।कार्यक्रम मे काफी संख्या मे अतिथिगण तथा ब्रह्मावत्स शामिल थे
 उद्घाटन बीके मीना दीदी,बीके वीभा,नार्वे मे माईक्रो स्कोपिक साईंस्टिक अभिषेक रंजन,बीके अशोक वर्मा ई० आर के गुप्ता ने दीप प्रज्जवलित कर तथा  केक काटकर किया।
संबोधन मे बीके मीना बहन ने कहा कि भारत के अविनाशी खंड पर शिव बाबा का अवतरण 88वर्ष पूर्व हो चुका है और वे चयनित आत्माओं को संपूर्ण निर्विकारी के साथ सर्वगुण संपन्न बना रहे है।अभी सभी आत्माओं के लिये सुनहरा अवसर है ,उनसे संबंध जोड भाग्य बना सकते है।घर परिवार मे रहते कर्म योगी बन कर रहना है।सिर्फ़ पांच विकार को छोड पवित्र दुनिया के लिये पवित्र बनना है।नार्वे के वैज्ञानिक अभिषेक रंजन ने बीके शीवानी के प्रवचन  प्रसंगो को रखा।उनहोंने आध्यात्म को विज्ञान  का आधार कहा।उक्त मौके पर  प्रेरक गीत भी प्रस्तुत किया।डा०हेना चंद्रा ने नव युग की ओर बढते कदम की बधाई देते हुये संस्था के मूल्य निर्माण के कार्य की प्रशंसा की।संचालन के दौरान बीके अशोक वर्मा ने कहा कि पुरुषोत्तम संगम युग के समापन मे अब चंद वर्ष रह गये है।यह संस्था कोई देहधारी नही बल्कि स्वंय परमात्मा चला रहे है।नई दुनिया स्वर्णिम होगा , भारत बहुत जल्द विश्व गुरु होने जा रहा है।सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके वीभा ने सभी का स्वागत किया।
कार्यक्रम मे नन्ही अंशीका ने कई मनमोहक नृत्य प्रस्तुत किये।शशिबाला माता ने शिव अराधना पर सुंदर गीत गाया।कार्यक्रम का आकर्षण क्वीज था जो,बीके अनिता के निर्देशन मे संपन्न हुआ।लक्ष्मी उर्फ अन्नू तथा कई भाई बहनो ने काफी  हास्य चुटकुला सुनाकर सभी का मनोरंजन किया।समापन पर बीके मीना दीदी ने सभी अतिथियों को ईश्वरीय सौगात भेंट की।
16
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *