खौफनाक : युवक ने अपने मां-बाप और भाई को उतारा मौत के घाट, वजह जान कर आप हो जाऐंगे हैरान

Live News 24x7
4 Min Read

छोटी उम्र में इश्क और मोहब्बत कभी-कभी बड़ी घटनाओं को अंजाम दे डालते हैं. ऐसा ही एक दिन पहले गाजीपुर जिले के नंदगंज थाना क्षेत्र के कुसमीह कला गांव में देखने को मिला. यहां एक ही परिवार के तीन लोगों की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में पुलिस ने खुलासा करते हुए परिवार के ही चौथे सदस्य को गिरफ्तार कर लिाय. पुलिस ने बताया कि यही इस हत्या का मास्टरमाइंड बताया. पुलिस ने बताया कि युवक की मोहब्बत में माता-पिता और भाई रुकावट बन रहे थे, जो उसे बर्दाश्त नहीं हुआ. उसने तीनों को रास्ते से हटाने की ठान ली और एक दिन पूर्व गला रेतकर हत्या कर दी.

नंदगंज थाना क्षेत्र के कुसमीह कला गांव में बीती 8 जुलाई की रात एक ही परिवार के पति-पत्नी और बेटे की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर देने का सनसनीखेज मामला सामने आया था. परिवार का चौथा सदस्य पास के ही गांव में आर्केस्ट्रा देखने गया था. यही अकेला केवल परिवार में बचा था. पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर जांच-पड़ताल में जुटी थी. एक दिन बाद यानि मंगलवार को पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा किया. पुलिस ने बताया कि इस तिहरे हत्याकांड का मुख्य आरोपी कोई और नहीं, बल्कि परिवार का चौथा बेटा आशीष है, जो आर्केस्ट्रा देखने गया था.

पुलिस ने बताया कि आशीष का पड़ोस में ही रहने वाली एक लड़की से अफेयर चल रहा था. आशीष उससे शादी करना चाहता था, लेकिन कम उम्र होने के कारण परिवार के लोग इस शादी से इनकार कर रहे थे. यहां तक कि बड़े भाई ने भी कई बार आशीष को रोका-टोकी की थी. इससे वह पूरे परिवार से खुन्नस खाए हुए बैठा था. पुलिस ने बताया कि तीन दिन पहले आशीष ने पूरे परिवार को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया था, लेकिन वारदात को अंजाम देने से पहले ही उसकी हिम्मत जवाब दे गई.

घटना वाले दिन जब वह अपने पिता और भाई के साथ आर्केस्ट्रा देखकर वापस घर आया तो उन सभी लोगों के साथ सोने का ड्रामा करने लगा. जब भाई और पिता गहरी नींद में सो गए तब, आशीष ने घर में रखी खुरपी, जिसे वह खुद पिछले तीन-चार दिनों से धार दे रहा था, उससे एक-एक कर पहले मां को मौत के घाट उतारा, फिर पिता को और उसके बाद भाई को भी खुरपी से मौत से घाट उतार दिया. हालांकि बड़ा भाई गला कटने के बाद चारपाई से उठकर दरवाजे तक पहुंच गया था, लेकिन खून अधिक बहने के कारण वहीं पर गिर गया और उसकी मौत हो गई.

गाजीपुर एसपी ओमवीर सिंह ने बताया कि आशीष घटना वाले दिन पिता के साथ जब आर्केस्ट्रा देखकर वापस आया और फिर सभी की हत्या की. हत्या करने के पश्चात फिर से आर्केस्ट्रा देखने के लिए पहुंचा और वहां पर अपने अन्य साथियों को 15-20 मिनट बाद घर चलने के लिए कहने लगा. इसके पश्चात वह सभी घर आए. घर पर लाशों को देखकर वह रोने-चिल्लाने लगा. एसपी ने बताया की हत्या करने से पूर्व आशीष ने पिता द्वारा रखी गई शराब की बोलत गटक गया था, जिससे वह भरपूर नशे में था. नशे में ही उसने इस घटना को अंजाम दिया.

92
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *