बिहार में मासूम की दोनो आंखे निकाली, मुंह में कपड़ा ठुसा : कुरकुरे के लिए तीन साल के मासूम की हत्या

Live News 24x7
4 Min Read

बिहार के आरा में इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है.एक बच्चे की निर्मम हत्या कर शव को पोखर में फेंक दिया गया है. उसकी दोनों आंखें बाहर आ गई थी. उसके मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ था. आपको बता दे कि यह घटना जिले के जगदीशपुर थाना क्षेत्र के सौंधी गांव की है. मृतक की पहचान ब्रह्मपुर थाना क्षेत्र के ब्रह्मपुर गांव निवासी चंदन साह के तीन वर्षीय बेटे करण उर्फ ढोलू के रूप में की गई है. परिजनों के अनुसार, 6 जुलाई को बच्चे के बड़े मामा की दुकान पर गांव के दो युवक नशे की हालत में पहुंचे थे. उन्होंने कुरकुरे उधार मांगा, लेकिन मामा ने देने से इनकार कर दिया था. जिसके वजह से अगवा कर बच्चे की हत्या करने की बात सामने आई है. मामले में एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है.

आपको बता दे कि बच्चा अपने छोटे मामा की सगाई में आया था. वो घर के दरवाजे पर खड़ा था. इसी दौरान आरोपियों को लगा कि वो दुकानदार का बेटा है. इसलिए उसे उठाकर ले गए. 48 घंटे बाद बच्चे का शव बरामद किया गया. पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. मासूम बच्चे की मौसी अनीता देवी ने बताया कि 5 जुलाई को करण अपने मामा की सगाई में आया था. 6 जुलाई की सुबह जब मेरा भाई दुकान पर था, तब गांव के घुटूर और हाटपोखर गांव का मुन्ना नशे की हालत में दुकान पर आए थे और दोनों उधार में कुरकुरे मांग रहे थे.
जब मेरे भाई ने उधार नहीं दिया तो उन्होंने दो घंटे में खामियाजा भुगतने की धमकी दी थी. उसके बाद घर से करण लापता हो गया. इसके साथ दी दोनों आरोपियों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई. फिर भी बच्चे का सुराग नही मिल पाया और आज बच्चे की डेड बॉडी मिली.

शव मिलने की सूचना के बाद परिजनों ने इसकी जानकारी जगदीशपुर थाना को दी. इसके बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और कानूनी कार्रवाई में जुट गई. पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. मामले की सूचना मिलने के बाद जगदीशपुर डीएसपी राजीव चंद्र सिंह, डॉग स्क्वायड की टीम और एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची. इसके बाद शव को उस गंदे पानी से भरे गड्ढे से बाहर निकाला गया. शव को बाहर निकालने से पहले एफएसएल की टीम ने शव के पास के सैंपल को इक्ट्ठा किया. उसके बाद शव को एक कपड़े की मदद से बाहर निकाला गया.

इधर, घटना को लेकर परिजनों ने सबसे बड़ा आरोप जगदीशपुर थानाध्यक्ष पर लगाया है. परिजनों का कहना है कि थानाध्यक्ष को हम लोगों ने मामले की जानकारी दी थी. लेकिन, समय रहते थानाध्यक्ष ने उचित कार्रवाई नहीं की जिसके वजह से यह घटना हुई है.

बच्चे की हत्या और थाना अध्यक्ष पर लगाये गए आरोप पर जगदीशपुर डीएसपी राजीव चंद्र सिंह ने बताया कि घटना में थानाध्यक्ष पर आरोप लगाए जा रहे हैं. इस मामले की जांच चल रही है. जो लोग दोषी होंगे, उन पर उचित कार्रवाई होगी.

59
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *