चंपारण की बेटी डाॅ. नीतू कुमारी नूतन ने माॅरीशस में आयोजित ‘भोजपुरी महोत्सव’ में बिखेरा सुमधुर आवाज का जलवा

Live News 24x7
5 Min Read
  • स्वर- लय-ताल से गुंजायमान हो उठा माॅरीशस 
  • मॉरीशस के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने डाॅ.नूतन की प्रतिभा को सराहा
  • भोजपुरी भाषा- संस्कृति को दुनियाभर में स्थापित करेगा यह महोत्सव- डाॅ.नूतन 
अशोक वर्मा
मोतिहारी :अपनी विलक्षण प्रतिभा से दुनिया के देशों में भारतीय कला- संस्कृति का परचम लहरा अपार ख्याति अर्जित चुकीं राष्ट्रपति अवार्ड से नवाजी गईं प्रख्यात गायिका व चंपारण की बेटी डाॅ. नीतू कुमारी नूतन ने माॅरीशस में आयोजित तीन दिवसीय ‘भोजपुरी महोत्सव- 2024’ में शिरकत कर पुन: अपनी मिट्टी का मानवर्धन किया है। माॅरीशस सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ आर्ट एण्ड कल्चरल हेरिटेज के तत्त्वावधान में दिनांक 06 से 08 मई तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित भोजपुरी महोत्सव का उद्घाटन माॅरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ ने किया, जबकि समापन मॉरीशस के राष्ट्रपति पृथ्वीराज सिंह रुपन के करकमलो हुआ। भोजपुरी महोत्सव में भारत, सूरीनाम, सिंगापुर, त्रिनिदाद, कनाडा, नेपाल सहित दुनियाभर के कई देशों से भोजपुरी के एक्टिविस्ट, नामचीन कलाकार व जाने- माने साहित्यकारों ने शिरकत की। तीन दिवसीय महोत्सव में माॅरीशस के कला, संस्कृति मंत्री अविनाश तिलक, सरिता बुद्धू सहित माॅरीशस सरकार के कई मंत्रीगण, राजनेता, प्रमुख राजनयिक व विदेशी डेलीगेट्स खासतौर पर मौजूद रहे।
 भारत की विख्यात कला शख्सियत डाॅ.नूतन ने भोजपुरी महोत्सव के दूसरे दिन अपने शानदार गायन की प्रस्तुति की। उन्होंने अपने सुमधुर आवाज में बिहार और चंपारण के पारंपरिक लोकगीतों के विविध रंगों की ऐसी मोहक प्रस्तुति की, जिससे मॉरीशस का वातावरण स्वर- लय-ताल से गुंजायमान हो उठा। दुनियाभर से आयीं नामचीन हस्तियाँ व सुधी दर्शक- श्रोता सुरों की रसवर्षा से नहा डाॅ.नूतन के फन के कायल हो गए। माॅरीशस के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने भी डाॅ.नूतन की प्रतिभा की भरपूर सराहना की।
    भोजपुरी महोत्सव के अवसर पर आयोजित ‘सेमिनार’ को संबोधित करते हुए डाॅ.नूतन ने कहा कि मॉरीशस की भूमि पर आयोजित भोजपुरी महोत्सव से न सिर्फ भोजपुरी का सम्मान बढ़ा है, बल्कि यह महोत्सव दुनिया के देशों में भोजपुरी भाषा- संस्कृति को स्थापित करने में बेहद कारगर सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन से हम भोजपुरी का समुचित विकास कर सकते हैं तथा भोजपुरी को विश्व के कोने- कोने में फैला सकते हैं।
डाॅ.नूतन को विगत माह भारत की महामहिम राष्ट्रपति ने संगीत नाटक अकादमी अवार्ड से नवाजा था। इसके पूर्व भारत सरकार के संगीत नाटक अकादमी ने उन्हें कला-दीक्षा अभियान अन्तर्गत राज्य-गुरु  नियुक्त किया था। विगत वर्ष भारत के संसद भवन के ऑडिटोरियम में अपने सुमधुर गायन की प्रस्तुति से उन्होंने कला के क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित किए। भारत सरकार के केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड की वरीय सदस्य डाॅ.नूतन को विगत वर्ष मॉरीशस के राष्ट्रपति ने ‘मॉरीशस कला- सम्मान’ से नवाजा था। दुनिया के कई देशों में अपनी स्वरात्मक प्रस्तुतियाॅ दे अपार ख्याति, मान- सम्मान व पुरस्कार हासिल कर चुकीं डाॅ.नूतन भारत सरकार के विदेश मंत्रालय अंतर्गत आईसीसीआर की पैनल्ड आर्टिस्ट हैं। वे भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय अंतर्गत आईसीआर की मान्यता प्राप्त कलाकार भी हैं। विगत वर्ष संगीत नाटक अकादमी के तत्त्वावधान में चंपारण की धरती पर तकरीबन सवा सौ करोड़ के बजट से पाँच दिवसीय ‘लोकजात्रा’ के आयोजन का श्रेय डाॅ.नूतन को जाता है, जिनकी पहल पर देश के विभिन्न जगहों से आए साढ़े छह सौ कलाकारों ने अपनी कला के अद्भुत प्रदर्शन से दर्शक- श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया था। बिहार सरकार की वित्त समिति की सदस्य डाॅ. नूतन की लिखित माँग पर राज्य सरकार तीन सौ करोड़ की लागत से बिहार में कला विश्वविद्यालय खोलने की तैयारी कर रही है।  भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय अंतर्गत सीसीआरटी द्वारा वरिष्ठ अनुसंधान फेलोशिप अवार्ड लेने वाली बिहार की पहली कला शख्सियत डाॅ.नूतन ने साढ़े छह सौ पृष्ठों में ‘कालिदास के साहित्य संसार में संगीत का स्वरुप’ नामक पुस्तक लिख कला -साहित्य जगत में शानदार प्रतिष्ठा अर्जित की है।
116
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *