बिहार : युवक का अपनी ही मौसी पर आया दिल, शादी का झांसा देकर चार सालों तक करता रहा यौन शोषण

Live News 24x7
4 Min Read

बेतिया में एक युवक का दिल अपनी मौसी पर आया तो सारे रिश्ते नाते को ताक पर रख कर पहले रेप किया फीर शादी का झांसा देकर चार सालों तक यौन शोषण किया। लेकिन जब युवक की शादी दुसरी जगह तय हुई तो बात बिगड़ गई और मामला थाने तक पहुंच गई।

मामला जिले के शिकारपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की है। मामले में पुलिस पीड़िता के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर जांच पड़ताल में जुटी हुई है। थानाध्यक्ष अवनीश कुमार ने बताया कि पीड़िता के आवेदन पर एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। पीड़ित लड़की को मेडिकल और बयान के के लिए बेतिया भेज दिया गया है। न्यायालय में बयान के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

थानाध्यक्ष ने बताया कि पीड़िता ने भंटहवा पीपरा गांव निवासी अफरोज अंसारी, उसके पिता इम्तेयाज अंसारी समेत तीन महिलाओं को आरोपित किया है। एफआईआर में पीड़िता ने बताया है कि आरोपित अफरोज अंसारी की दूर के रिश्ते में वह मौसी लगती है। हम उम्र होने के कारण दोनों हमेशा बातचीत करते रहते थे।

इस बीच अफरोज अंसारी शादी का झांसा देकर उसको प्रेम जाल में फांस लिया। पहली दफा रिश्तेदारी में शादी समारोह में दोनों गए थे। जहां मौके का फायदा उठाकर अफरोज ने उसके साथ दुष्कर्म किया। जब उसने नाराजगी जाहिर करते हुए घरवालों को बताने की बात कही तो वह शादी का प्रलोभन देकर चुप करा दिया।

इस तरह चार साल तक अफरोज ने उसके साथ यौन शोषण किया और दोनों लीव एंड रिलेशनशिप में रहें। जब भी वह शादी करने की बात करती थी तो वह टाल मटोल कर देता था। इसी बीच अफरोज की शादी कहीं दुसरे जगह तय हो गई।

शादी तय होने के बाद पीड़िता ने सारी बात अपने घरवालों को बताई। घरवाले जब पुछने गए तो अफरोज एवं उसके पिता और घरवाले मिलकर पीड़िता के परिजनों को मारपीट कर घर से भगा दिया।

पीड़िता लड़की के घरवालों ने बताया कि थाना में मामला आने से पहले गांव में पंचायती भी हुई थी। लेकिन पंचायती में आरोपित के घरवाले शादी करने से साफ इंकार कर दिए और भरी पंचायत में गाली गलौज करने लगे। उसके बाद थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई गई है।

पीड़िता ने यह भी बताया कि थाने में आवेदन देने के बाद भी एक दफा मेरे घरवाले अफरोज के परिजनों से शादी की बात किए। लेकिन वे लोग मानने को तैयार नहीं थे और उल्टे मेरे परिजनों को गंदी गंदी गालियां देने लगे।

अफरोज के पिता इम्तेयाज ने बताया कि दो साल पहले अफरोज का मानसिक संतुलन खराब था। उसको घर में बांध कर रखा जाता था। गोरखपुर, पटना समेत कई जगहों पर उसका इलाज कराया गया है। एक साल पहले वह ठीक हो गया और कमाने बाहर चला गया।

कमा कर इधर जब घर आया तो इसकी शादी तय की गई। जिसको देखकर पीड़ित लड़की के घरवाले शादी करने की बात छेड़े। जब कहा गया कि रिश्तेदारी में शादी नहीं करनी है तो झूठा लांछन लगा कर केस में फंसा दिया गया है।

113
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *