बिहार में मुश्लिम लड़के ने हिन्दु नाबालिग लड़की को प्यार के जाल में फंसाकर की शादी, अब नेपाल में बेचने की थी तैयारी

Live News 24x7
6 Min Read

बिहार के पूर्वी चम्पारण जिले से हैरान कर देने वाला एक मामला सामने आया है। जिले  के रक्सौल बॉर्डर से एसएसबी ने एक मुस्लिम युवक को दूसरे धर्म की नाबालिग लड़की के साथ पकड़ा है। युवक ने नाबालिग को धोखे में रखकर शादी की। इसके बाद उसे नेपाल लेकर जा रहा था, जहां नाबालिग को वह बेचने वाला था।

युवक की पहचान 26 वर्षीय समीर आलम के रूप में हुई है। समीर पहले भी दूसरे धर्म की लड़कियों को बहला-फुसलाकर धर्मांतरण करने और बेचने के आरोप में जेल जा चुका है। उसके मोबाइल से लड़कियों की आपत्तिजनक फोटो और वीडियो भी मिले हैं।

आपको बता दे कि एसएसबी की मानव तस्करी रोधी यूनिट ने मिशन निर्भया के तहत इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। एसएसबी के इंस्पेक्टर मनोज कुमार शर्मा ने इस मामले में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने बताया कि समीर आलम की हरकत बॉलीवुड फिल्म ‘द केरला स्टोरी’ की कहानी से बहुत हद तक मिलता है। युवक के साथ बरामद नाबालिग की उम्र 17 साल है और वह बेतिया की रहने वाली है। आरोपी भी वहीं का रहने वाला है।

इंस्पेक्टर मनोज शर्मा ने बताया कि पहले तो नाबालिग बहुत सहमी थी। कुछ भी बताने को तैयार नहीं थी। ऐसा लग रहा था कि उसे लड़के से बहुत प्रेम है। फिर काउंसिलिंग के बाद उसने पूरी कहनी बताई। नाबालिग ने बताया कि वो लड़के को केवल दो माह से जानती है। अपनी एक सहेली सलमा खातून के यहां शादी में गई थी, वहां लड़के ने उससे बात करने की कोशिश की, लेकिन उसने रिस्पॉन्स नहीं दिया था।
जिसके बाद समीर स्कूल जाते वक्त उसका पीछा करने लगा और दोस्ती करने की कोशिश करता था। एक दिन उससे बात की तो लड़के ने अपना नाम समीर बताया, उसे अपने धर्म का पता नहीं चलने दिया। दोनों में बातचीत और मुलाकात होने लगी। कुछ दिन बाद फिर समीर उससे मिला और उसे अपने घर ले जाने की जिद करने लगा। पहले नाबालिग ने मना किया, फिर वापस लौटने की शर्त पर उसके घर चली गई।

घर पहुंचते ही समीर ने नाबालिग की साइकिल छुपा दी और कहा कि तुम अब अपने घर नहीं जाओगी। मैं तुमसे शादी करूंगा। नाबालिग ने मना किया और जाने की कोशिश करने लगी तो समीर ने अपनी जान पहचान की महिलाओं को बुला लिया। जबरदस्ती मांग में सिंदूर भरने की कोशिश की। नाबालिग ने पुलिस से कहा कि वो समझ गई थी कि अब फंस गई है तो उसने अपने आपको उनके हवाले कर दिया।

फिर दोनों साथ रहने लगे। लड़की ने कहा कि वह दो बार मौका पा कर वहां से भाग भी गई थी, लेकिन उसे दोनों बार पकड़ लिया गया। लड़की के पास कोई फोन भी नहीं था और मोहम्मद समीर आलम उसके घर पर बात भी नहीं करने देता था। एक दिन लड़की ने छुप कर बात करने का प्रयास किया, लेकिन समीर को पता चल गया तो वह उसे बहुत डांटा।

अगले दिन लड़के ने उससे कहा कि चलो तुम्हें रक्सौल मार्केट घुमा कर लाता हूं। यह कहकर वह नेपाल ले जाकर बेचने की कोशिश में था, लेकिन इंस्पेक्टर मनोज कुमार शर्मा के इंटेलिजेंस नेटवर्क ने उसे पकड़ लिया।

इंस्पेक्टर शर्मा को जानकारी मिली थी कि एक व्यक्ति 17 वर्षीय नाबालिग लड़की को रक्सौल या इसके आसपास के क्षेत्र से नेपाल ले जाने की कोशिश में हैं। पुलिस ने सभी को ड्यूटी में अलर्ट कर दिया। कुछ समय बाद एएचटीयू टीम को एक व्यक्ति के साथ नाबालिग लड़की जाती हुई दिखी तो उनको संदेह हुआ। रोककर पूछताछ की गई तब व्यक्ति की ओवर एक्टिंग देख सभी आश्चर्यचकित रह गए। वह किशोरी से कुछ भी पूछताछ नहीं करने दे रहा था और वह भी आरोपी के पक्ष में ही बात कर रही थी, लेकिन दोनों को देख कर संदेह लग रहा था कि मामला तो कुछ और ही है।

जिसके बाद उनको पूछताछ के लिए थाना लेकर गए तो पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसका नाम मोहम्मद समीर आलम है। उसके अब्बा का नाम मोहम्मद गुड्डू मियां है। वह गांव किशुनबाग थाना नगर बेतिया का रहने वाला है। उस पर 11 मई 2022 को यूपी की एक नाबालिग लड़की के तस्करी के संदर्भ में प्रतापगढ़ में मुकदमा भी चल रहा है। वह बेल पर बाहर है। जब उससे कहा गया कि तुम पहले भी नाबालिग के मामले में जेल जा चुके हो, तब उसने कहा कि कोई बात नहीं दोबारा भी जेल चला जाऊंगा, फिर बेल पर जेल से बाहर आ जाऊंगा।

वही पुलिस ने कहा कि मोहम्मद समीर आलम बेहद ही शातिर है। उसके फोन से अन्य लड़कियों के आपत्तिजनक वीडियो और फोटो भी पाए गए हैं। उसपर सामाजिक कार्यकर्ता और एनजीओ स्वच्छ रक्सौल के डायरेक्टर रणजीत सिंह ने अभियुक्त के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।

126
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *