कोई भी तकनीकी खराबी किसी बूथ से प्राप्त होने पर उसे तुरंत समाधान करवाया जा सके- जिला निर्वाचन पदाधिकारी

Live News 24x7
7 Min Read
गया। लोकसभा आम निर्वाचन 2024 को स्वतंत्र, शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं भयमुक्त वातावरण में संपन्न कराने को लेकर महाबोधि संस्कृति केंद्र बोधगया में सामान्य प्रेक्षक गया संसदीय क्षेत्र  यशवंत वी० गुरुकर की उपस्थिति में जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह ज़िला पदाधिकारी गया डॉ० त्यागराजन एसएम द्वारा सभी सेक्टर पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी मास्टर ट्रेनर एव तकनीकी कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया है।  जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिलाधिकारी डॉ0 त्यागराजन एसएम ने संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी सेक्टर पदाधिकारी के क्षेत्र के सभी मतदान केंद्र एव ईवीएम संबंधित क्या क्या काम करना है, उसे स्पस्टता से समझ ले कि क्या करना है और क्या नही करना है। जिससे मतदान के तिथि में कोई दिक्कत नही हो सके। यदि किसी को लगता है कि उन्हें अतिरिक्त ट्रेनिंग की आवश्यकता है। तो बताए, उन्हें ट्रेनिंग दिया जाएगा। मतदान के पहले अपनी पूरी दायित्व को अच्छी तरह समझ लें। सभी प्रजाईडिंग ऑफिसर को ईवीएम मशीन दिए जाएंगे वह सभी अपने मशीन को अपने साथ सीधे तौर पर मतदान केंद्र या क्लस्टर पॉइंट पर ले जाएंगे, इसके अलावा किसी भी अन्य जगहों पर किसी भी हालत में कहीं नहीं जाएंगे। मतदान समाप्ति के पश्चात प्रजाईडिंग ऑफीसर ईवीएम को सीधे स्ट्रांग रूम लाएंगे।  19 अप्रैल को गया एव औरंगाबाद संसदीय क्षेत्र में चुनाव है। 17 अप्रैल को पार्टी मिलान किया जाना है। गया कॉलेज में गया सदर, वजीरगंज, बेला एव गुरुआ विधानसभा का मिलान होगा। मगध यूनिवर्सिटी में शेरघाटी, बाराचट्टी एव बोधगया विधानसभा का मिलान होगा। इमामगंज विधानसभा का प्लस 2 रंगलाल उच्च विद्यालय में मिलान होगा। टिकारी विधानसभा का मिलान राज इंटर कॉलेज में किये जायेंगे। इसके अलावा सभी मतदान कर्मियों को पुनः ईवीएम का हैंड्स ऑन ट्रेनिंग दिया जाएगा, ताकि कोई कर्मी कुछ भूल गए तो उनकी डाउट को क्लियर किया जा सके। वाहन भी डिस्पैच सेन्टर से सेक्टर वार लगे रहेंगे। सेक्टर बार बने बूथ के लिये सीधे मतदान कर्मी पूरी टीम के साथ संबंधित बूथ या क्लस्टर पॉइंट पर रवाना होंगे। हर सेक्टर पदाधिकारी के पास रिजर्व में ईवीएम रखा जाएगा  किसी भी बूथ पर अचानक कोई ईवीएम खराब होने से तुरंत रिप्लेस कराया जा सके। इसके अलावा प्रत्येक सेक्टर पदाधिकारी के साथ एक-एक मास्टर ट्रेनर भी टैग किया गया है, जिससे कोई भी तकनीकी खराबी किसी बूथ से प्राप्त होने पर उसे तुरंत समाधान करवाया जा सके। प्रत्येक मतदान केंद्र पर ईवीएम को कैसे सील करना है कौन-कौन से प्रपत्र भरे जाएंगे इत्यादि की पूरी जानकारी अच्छी तरह रख लें ताकि मतदान के दिन कोई समस्या नहीं हो। मॉक पोल के दौरान सी यू खराब रहता है तो सी यू को तुरंत बदलना होगा।  मतदान शुरू होने के बाद यदि सी यू खराब होता है तो पूरी सेट को बदलना होगा। मॉकपोल के बाद सीआरसी जरूर दबाए। मतदान समाप्ति के बाद क्लाज बटन जरूर दबाए। सभी सेक्टर पदाधिकारी के पास अनिवार्य रूप अपने वरीय अधिकारियों का दूरभाष नंबर उपलब्ध रहे। हर दो घंटे पर सभी बूथों से पोलिंग की रिपोर्ट लेनी होगी। मतदान के दिन लास्ट दो घंटे काफी सतर्कता एव विशेष ध्यान से काम करना होता है। जिला पदाधिकारी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया है कि अपने क्षेत्र के सभी मतदान केदो पर हर हाल में 16 अप्रैल तक फर्नीचर एवं रोशनी की पूरी व्यवस्था हर हाल में करवा ले। सभी डिस्पैच सेंटर में खाने के लिए काउंटर लगाए जाएंगे इसके अलावा सभी मतदान केदो पर रसोईया के माध्यम से पेड बेसिस पर खाना बनाकर खिलाने की भी व्यवस्था रखी जा रही है। सभी सहायक निर्वाचित पदाधिकारी अपने क्षेत्र के सभी मतदान केदो का रूट चार्ट अंतिम रूप से फाइनल कर ले ताकि उसे छपाकर संबंधित प्रजाईडिंग ऑफिसर को उपलब्ध कराया जा सके।सामान्य प्रेक्षक गया संसदीय क्षेत्र  यशवंत वी० गुरुकर ने सभी सेक्टर पदाधिकारी को संबोधित करते हुए कहा कि निर्वाचन आयोग ने आपकी काफी अहम दायित्व दिया है, उसका शतप्रतिशत पालन करना होगा। अभी से हर 2-3 के अंतराल पर अपने अधीनस्थ बूथों में सभी मूलभूत सुविधाएं यथा पानी, टॉयलेट, रैम्प, लाइट, फर्नीचर आदि की व्यवस्था पूरी तरह उपलब्ध करवाने के लिये उस क्षेत्र के सहायक निर्वाची पदाधिकारी या प्रखण्ड विकास पदाधिकारी से संपर्क स्थापित रखे। मतदान की तिथि में सभी मतदान दल को हर हाल में सुबह 4:00 बजे मतदान केंद्र पर पहुंचना है तथा हर हाल में सुबह 5:00 से मॉक पोल प्रारंभ करना होगा।इसके बाद ईवीएम विविपैट का कमिश्निंग का भी ट्रेनिंग दिया गया है। आगे बताया गया कि प्रत्येक विधानसभा के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा दो-दो इंजीनियर उपलब्ध कराया गया है ताकि ईवीएम में कोई भी तकनीकी खराबी आने पर उसे तुरंत शार्ट आउट कराया जा सके। यह सभी इंजीनियर द्वारा कमिश्निंग का सुपरवाइजर करेंगे जिला पदाधिकारी ने कहा कि कल से  11 अप्रैल से कमिश्निंग किया जाएगा। इसमें हर हाल में शतप्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है। अनुपस्थित बिल्कुल स्वीकार नहीं होगा। सभी संबंधित कर्मी अपने विभागीय आई कार्ड पहनकर कमिश्निंग में शामिल होंगे। अनधिकृत व्यक्ति कोई नहीं आएंगे। सभी कर्मी हर हाल में अपने कमिश्निंग सेंटर पर सुबह 8:30 बजे पहुंचना सुनिश्चित करेंगे।इस  प्रशिक्षण कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता राजस्व, अपर समाहर्ता विभागीय जांच, अपर समाहर्ता विधि व्यवस्था, प्रथम फेज के सभी 9 विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारी, सहायक निर्वाची पदाधिकारी, उप निर्वाचन पदाधिकारी, ज़िला भूअर्जन पदाधिकारी, नगर आयुक्त, वरीय उप समाहर्तागण उपस्थित थे।
72
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *