शर्मनाक : पुलिस वाले ने दलित की थाने में कर दी पीटाई, वजह जान कर आप हो जाऐंगे हैरान।

3 Min Read

बिहार के वैशाली से एक खबर सामने आई है जहां आरोप है कि एक दलित किशोर की पुलिसकर्मियों ने सिर्फ इस बात पर पिटाई कर दी क्योंकि उसने थाने के परिसर में लगे नल से पानी भर लिया था. युवक की पिटाई से गुस्साए लोगों ने पुलिसकर्मियों पर ही पथराव कर दिया जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं. लोगों का आक्रोश बढ़ते देख पुलिसकर्मियों ने किशोर समेत चार लोगों को हिरासत में ले लिया और नगर थाने भेज दिया.

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला वैशाली जिले के जढूआ ओपी का है. ओपी परिसर में लगे नल से स्थानीय निवासी उमेश पासवान के 17 साल के बेटे रोहित पासवान ने पानी भर लिया था. रोहित पानी भरकर जाने लगा इसी दौरान ओपी के अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने उसे रोका और अपने पास बुलाया. जब रोहित उनके पास पहुंचा तो धर्मेंद्र कुमार से बुरी तरह से पीटने लगे और वही एक कमरे में बंद कर दिया. जब रोहित के परिजनों को मामले की भनक लगी तो वे तुरंत ओपी पहुंचे.

रोहित के परिजन से ओपी पहुंचे और ओपी अध्यक्ष धर्मेंद्र से रोहित के बारे में पूछा तो उन्होंने रोहित की मां और बहन के साथ भी बदतमीजी की. रोहित की बहन प्रीति ने कहा कि पुलिसकर्मी उसके भाई रोहत, उसकी मां समेत चार लोगों को पकड़कर नगर थाना ले गए हैं. स्थानीय महिला मालती देवी ने भी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि रोहित पानी भरने गया था तो पुलिसकर्मी कहने लगे कि दलित है न क्यों छुआ? इसके बाद रोहित की पिटाई करने लगे.

जब मामले की जानकारी दलित बस्ती तक पहुंची तो बस्ती के कई लोग ओपी पहुंच गए और वहां जाकर हंगामा करने लगे. किशोर और अन्य को छोड़ने के लिए उन्होंने पुलिस से कहा और जब नहीं छोड़ा गया तो उन्होंने थाने पर पथराव कर दिया. इस पथराव में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं. वहीं सदर एसडीपीओ ओम प्रकाश ने कहा कि जढूआ में एक साइबर थाना और ओपी स्थापित है. उन्होंने कहा कि स्थानीय लोग ओपी परिसर में गंदगी फैला रहे थे, जब मना किया गया तो थाने पर पथराव कर दिया. जिसमें पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. उन्होंने पानी भरने के आरोप को सिरे से खारिज किया है.

33
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *