लोकसभा चुनाव का बज गया बिगुल, 7 चरणों में होगा मतदान, 4 जून को आएंगे नतीजे

5 Min Read

लोकसभा चुनाव 2024 का बिगुल बज चुका है. मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि पिछली बार की तरह ही इस बार भी सात चरणों में मतदान होगा. चुनाव आयोग की घोषणा के मुताबिक 19 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होगा, इसमें 102 लोकसभा सीटों पर वोटिंग होगी. 26 अप्रैल को दूसरे चरण में 89 लोकसभा की सीटों पर मतदान होगा. 7 मई को तीसरे चरण में 94 लोकसभा सीटों पर वोटिंग होगी. 13 जून को चौथे चरण में 96 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा, पांचवां चरण 20 मई को होगा, इस दिन 49 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा, 25 मई को छठे चरण में 57 और 1 जून को सातवें चरण में भी 57 सीटों पर वोटिंग होगी.

तारीखों के ऐलान से पहले मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि सबसे बड़े लोकतंत्र के चुनाव पर दुनिया की नजर रहती है. उन्होंने कहा कि निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव कराने के लिए हम पूरी तरह से तैयार हैं. उन्होंने कहा कि आयोग की टीम ने सभी राज्यों में सर्वे कर सारे इंतजाम कर लिये हैं. उन्होंने कहा कि हमने व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उनसे फीडबैक लिया.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि लोकसभा चुनाव के लिए देश भर में 10.5 लाख वोटिंग सेंटर बनाए गए हैं. 55 लाख EVM से वोट डाले जाएंगे.उन्होंने बताया कि देश में करीब 97 करोड़ मतदाता हैं जिनमें इस बार 1.82 करोड़ नये वोटर्स पहली बार मतदान करेंगे. इनमें 85 लाख महिला मतदाता हैं.कुल मतदाताओं में 49.7 करोड़ पुरुष मतदाता हैं जबकि 47.1 करोड़ महिला मतदाताओं की संख्या है. इनके अलावा 2 लाख 18 हजार ऐसे मतदाता हैं, जिनकी उम्र 100 साल से ऊपर है जबकि 82 लाख 85 साल के ऊपर के मतदाता हैं.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस ने कहा कि इस बात मतदान को पहले अधिक बेहतर और सुविधासंपन्न बनाने के लिए कई इंतजाम किए गए हैं. उन्होंने कहा कि 85 साल के ऊपर के मतदाताओं को बूथ पर आने की जरूरत नहीं होगी. उन्हें घर से मतदान करने की सुविधा दी जाएगी. उन्होंने बताया कि नामांकन से पहले सभी मतदाताओं के पास 12-डी फॉर्म भेजे जाएंगे. उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास इस लोकतंत्र के पर्व में अधिक से अधिक भागीदारी कराना है.

मुख्य चुनाव आयोग ने कहा कि देश भर में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए कड़े इंतजाम किये गये हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव में हर हाल में हिंसा को रोकना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हमारे सामने चार प्रकार की चुनौतियों हैं, मसल्स, मनी, मिस इंफॉर्मेशन और एमसीसी यानी मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट, इनसे निपटने की व्यवस्था की गई है. राजीव कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस करके के बताया कि चुनाव में धन बल पर कड़ी नजर रखी जाएगी. सीमावर्ती क्षेत्रों में ड्रोन से नजर रखी जाएगी.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि आज से मतदान तक सोशल मीडिया पर अफवाह या फेक न्यूज़ फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि चुनावी अभियान में नफरती भाषण न दें. कैंपेन में धार्मिक, जातीय टीका टिप्पणी ना दें. चुनाव आयोग ने कहा कि भ्रामक विज्ञापन देने से बचें. रेड लाइन का उल्लंघन करने से बचें. उन्होंने कहा कि राजनीतिक दल प्रचार अभियान में बच्चों का इस्तेमाल ना करें. स्टार प्रचारकों को गाइडलाइन की कॉपी दें.

राजीव कुमार ने कहा कि सभी प्रकार की गाइडलाइन पर नजर रखने और फीड बैक के लिए 2100 ऑब्जर्बर नियुक्त किये गये हैं.

17वीं लोकसभा का कार्यकाल 16 जून 2014 को खत्म होने वाला है.उससे पहले नई सरकार का गठन कर लिया जाना है. देश में लोकसभा की कुल 543 सीटें हैं और किसी भी पार्टी या गठबंधन को सरकार बनाने के लिए 272 सीटों के बहुमत की जरूरत होती है. साल 2019 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो 11 अप्रैल से 19 मई के बीच 7 चरणों में मतदान हुए थे और 23 मई को परिणामों की घोषणा की गई थी.

40
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *