पानी के लिए रेस्टोरेंट पर एक करोड़ का जुर्माना, जानें क्या है पूरा मामला

4 Min Read

उत्तर प्रदेश के नोएडा में पानी को लेकर कुछ रेस्टोरेंट और होटल पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. यह जुर्माना नोएडा प्राधिकरण ने लगाया है. बताया जा रहा है कि ये सभी होटल और रेस्टोरेंट किचन से निकले पानी को बिना शोधित किए हुए सीधा सीवर लाइन और ड्रेन में डाल रहे थे. इसके चलते सिवर लाइन और ड्रेनेज सिस्टम में ब्लॉकेज जैसी समस्याएं होने लगी हैं. नोएडा प्राधिकरण ने सभी होटल और रेस्टोरेंट से जल्द जुर्माने की राशि को जमा कराने के लिए कहा है.

जानकारी के मुताबिक, नोएडा प्राधिकरण को शहर में लगातार ड्रेन और सीवर लाइन बंद होने की शिकायतें मिल रही थीं. इसके बाद प्राधिकरण की टीम ने शहर के कई रेस्टोरेंट और होटल में अभियान चलाकर वेस्ट वॉटर मैनेजमेंट को चेक किया. इस दौरान लगभग 40 होटल और रेस्टोरेंट ऐसे मिले, जिनके द्वारा अपने किचन का चिकनाईयुक्त गंदा पानी शोधित किए बिना सीधे सीवर लाइन या ड्रेन में डाला जा रहा था. इसी कारण सीवर लाइन और ड्रेन जाम हो रहे हैं.

नोएडा प्राधिकरण ने इन सभी रेस्टोरेंट और होटल को 15 दिन के अंदर स्थिति ठीक करने का नोटिस दिया. लेकिन प्राधिकरण ने जब 15 दिन बाद जांच की तो पता चला कि नोटिस जारी किए जाने के बाद केवल 5 होटल और रेस्टोरेंट का वेस्ट वॉटर मैनेजमेंट दुरुस्त किया गया है. इसके अलावा बचे हुए 35 रेस्टोरेंट और होटल द्वारा अभी भी गंदा पानी ऐसे ही सीवर में डाला जा रहा है. इसके चलते प्राधिकरण ने इन सभी 35 होटल और रेस्टोरेंट पर लगभग 1 करोड़ का जुर्माना लगाया है.

जानें किन रेस्टोरेंट और होटल पर लगा जुर्माना

द कोर्टयार्ड डिनर, सेक्टर-104 कोलाहल रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 ऐट लाइव रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 द येलो चिली, सेक्टर-104 स्पीजा बरिस्तो, सेक्टर-104 ला पिनोज पिज़्ज़ा, सेक्टर-104 बॉबाज रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 आहार रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 द जाइंट पांडा रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 स्वीट-आई रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 छवि होटल, सेक्टर-104 अवधि फूड तरकारी, सेक्टर-104 अल-नवाब रेस्टोरेंटसेक्टर-104 फिला रेस्टोरेंट, सेक्टर-104 गब्बर ढाबा, सेक्टर-104 सिंघ फूड्स, सेक्टर-104 बाबा दा ढाबा, सेक्टर-104 द आर्टिस्ट वॉक फूड कोर्ट, सेक्टर-104 दाद्ज़ ट्रीट, सेक्टर-104 स्टर्लिंग मॉल, सेक्टर-104 गुलाठी पंजाबी, सेक्टर-18 खान की काठी रोल्स, सेक्टर-18 चाईनीज़ वोक, सेक्टर-18 पृथ्वी, सेक्टर-18 वॉक इन द वुड्स, सेक्टर-18 देसी वाइब्स, सेक्टर-18 ढाबा ऐट अट्टा, सेक्टर-18 राधेश्याम स्वागत रेस्टोरेंट, सेक्टर-18 चोमन,सेक्टर-18 स्वागत रेस्टोरेंट, सेक्टर-18 द तंदूरी विलेज, सेक्टर-18 नजीर फूड्स, सेक्टर-18 हीरा स्वीट्स, सेक्टर-18 सागर रत्ना, सेक्टर-18 पटियाला किचन रेस्टोरेंट, सेक्टर-18

इसे लेकर क्या कहता है नियम?

नियमों के मुताबिक, चिकनाई युक्त गंदा पानी सीधे सीवर या नाले में नहीं बहाया जा सकता. इसे ETP और ग्रीस ट्रैप के माध्यम से शोधित करने के बाद ही सीवर लाइन में बहाया जा सकता है. इसके लिए सभी रेस्टोरेंट और होटल को प्राधिकरण ने निर्देशित किया है. साथ ही रेस्टोरेंट के किचन में ग्रीस ट्रैप भी लगवाने के लिए निर्देशित किया गया है, ताकि सीवर और नालियों की आवेरफ्लो की समस्या का समाधान हो सके.

26

Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *