झारखंड के जामताड़ा में बड़ा रेल हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से 2 यात्रियों की मौत मौत की संख्या में बढ़ोतरी होने की संभावना

4 Min Read
रांची :झारखंड के जामताड़ा जिले में कलझारिया के पास कई लोगों की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गयी है. जबकि कई को गंभीर चोटें आयी है.
जामताड़ा-विद्यासागर रेलखंड के कालाझरिया के समीप ट्रेन की चपेट में आने से दो यात्रियों की मौत हो गयी. फिलहाल दोनों की शिनाखत् नहीं की जा सकी है. पूर्व रेलवे के चीफ पीआरओ कौशिक मित्रा ने बताया, अप लाइन पर मेमू ट्रेन से कट कर रेलवे ट्रैक पर चल रहे दो लोगों की मौत हो गयी. घटना के समय ट्रेन नंबर 12254 ( अंग एक्सप्रेस) घटनास्थल से दो किलोमीटर दूर विद्यासागर कासीटांड़ के पास मौजूद थी. उन्होंने बताया कि घटना में किसी के घायल होने की कोई सूचना नहीं है. घटना की जांच के लिए रेलवे ने तीन सदस्यीय जेएजी समिति का गठन किया है.
चालक को ट्रेन में आग लगने का हुआ संदेह
घटना को लेकर जामताड़ा डीसी शशिभूषण मेहरा ने बताया कि, लोगों से सूचना मिली कि डाउन लाइन से भागलपुर-यशवंतपुर अंग एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या 12254) गुजर रही थी. इसी बीच लाइन के किनारे डाली गयी गिट्टी का डस्ट उड़ रहा था. डस्ट को देखकर चालक को संदेह हुआ कि ट्रेन में आग लग गयी है और धुंआ निकल रहा है. इस कारण चालक ने ट्रेन रोक दी. यात्री भी उतर गए. इसी बीच अप ट्रैक पर जा रही आसनसोल से झाझा जानेवाली इएमयू ट्रेन की चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गयी.
घटना को लेकर जामताड़ा डीसी शशिभूषण मेहरा ने बताया कि, लोगों से सूचना मिली कि डाउन लाइन से भागलपुर-यशवंतपुर अंग एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या 12254) गुजर रही थी. इसी बीच लाइन के किनारे डाली गयी गिट्टी का डस्ट उड़ रहा था. डस्ट को देखकर चालक को संदेह हुआ कि ट्रेन में आग लग गयी है और धुंआ निकल रहा है. इस कारण चालक ने ट्रेन रोक दी. यात्री भी उतर गए. इसी बीच अप ट्रैक पर जा रही आसनसोल से झाझा जानेवाली इएमयू ट्रेन की चपेट में आने से दो लोगों की मौत हो गयी.
रेलवे ने जारी किया हेल्प लाइन नंबर
हालांकि रेलवे के अनुसार अंग एक्सप्रेस घटनास्थल से दो किलोमीटर दूर थी. आग लगने जैसी कोई घटना नहीं हुई. घटना को लेकर रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है. वहीं घटना की सूचना मिलते ही डीआरएम चेतना नंद सिंह सहित रेलवे के पदाधिकारी, रेल पुलिस, स्थानीय प्रशासनिक पदाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे. इसके बाद दोनों शवों को एंबुलेंस से जामताड़ा सदर अस्पताल भेजा गया. घटना के बाद से रेलवे और स्थानीय पुलिस ने आसपास के इलाकों में सघन तलाशी अभियान चलाया पर इस दौरान कोई भी हताहत नहीं मिला. घटना के बाद एसडीओ अनंत कुमार, थाना प्रभारी करमाटांड़ विवेकानंद दुबे सहित अन्य कालाझरिया पहुंच कर जांच-पड़ताल में जुटे थे.
हादसे के बाद जांच के लिए कमेटी गठित
हादसे के बाद रेलवे एक्शन में आ गयी और जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित कर दी गयी है. वहीं इस हादसे के बाद जामताड़ा विधायक ने कहा कि मैं घटनास्थल के लिए निकल चुका हूं. इसके अलावा मैंने घटना के जिम्मेदार लोगों की पहचान करने का निर्देश दे दिया है. अभी तक मृतकों की नहीं हो पाई है. हम इस मुद्दे को विधानसभा में भी उठाएंगे.
20
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *