डॉक्टर शंभू नाथ सिकरिया , धर्म विभूषण डिलीट मानद आचार्य मनोकामना सिद्ध हनुमान आश्रम को अयोध्या श्रीराम मंदिर से विशेष सामग्रियों का उपहार बॉक्स प्राप्त हुआ 

5 Min Read
अशोक वर्मा
मोतिहारी : अयोध्या श्री राम मंदिर उद्घाटन पर जारी  हनुमान चालीसा , रामायण पर विश्व के अनेक देशों द्वारा जारी डाक टिकट  ,अयोध्या श्री राम जन्मभूमि की मिट्टी ,एवं अन्य सामग्रियों से भरा विशेष उपहार बॉक्स  प्राप्त हुआ ।विशेष पवित्र सामग्री प्राप्त होने के बाद नकछेद टोला राधानगर स्थित मनोकामना सिद्ध हनुमान आश्रम के  धर्म विभूषण डिलीट मानद आचार्य मनोकामना सिद्ध हनुमान आश्रम के संस्थापक डॉक्टर शंभू नाथ सिकरिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सभी लोगों को उपहार दिखाया और बताया कि विशेष सामग्री वाला सुंदर बॉक्स  आया  इसे देखते हीं मुझे विशेष आध्यात्मिक अनूभूति हुई।मै इसे प्रभु श्री राम की विशेष कृपा के रूप में स्वीकार किया हूं।उन्होंने सामग्रियों को दिखाते हुए कहा कि अयोध्या की मिट्टी, सरजू जी का जल तथा राम जन्मभूमि का लिफाफा,डाक टिकट तथा अन्य वस्तुओं का मिलना  हमारे आश्रम के लिये एक सौभाग्य है ।उन्होंने इसके लिये देश के प्रधानमंत्री श्री मोदी जी को कोटि-कोटि धन्यवाद दिया। श्री सीकारिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि सतयुग,त्रेता, द्वापर और कलयुग में अभी तक  त्रिलोक विजय महायज्ञ नही हुआ है,मै इस महायज्ञ को करने जा रहा हूं। विश्व में पहली बार भारत को विश्व गुरु बनाने और विश्व शांति के लिए आश्रम के द्वारा पूर्व में अश्वमेघ यज्ञ कराया जा चुका है जिसमें मोतिहारी से प्रतीकात्मक  मेटल के अश्व को विशेष सुरक्षा में  अयोध्या तक  यात्रा कराया गया ।यात्रा के बाद  अयोध्या राम जन्म भूमि मंदिर का निर्माण हुआ। उन्होंने त्रिलोक विजय महायज्ञ की तिथि की घोषणा नहीं की लेकिन कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद इसका शुभारंभ किया जाएगा ।उन्होंने कहा कि सनातन संस्कृति के महान योद्धा लोकप्रिय देव पुरुष प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से समय निर्धारण कर इसकी तिथि की घोषणा की जाएगी। इसमें चारों दिशा के चार और दो विशेष सतगुरु शंकराचार्य के अलावा 108 वेदाचार्य एवं 11 महा मंडलेश्वर तथा अन्य महान संतों की उपस्थिति में सवा करोड़ विजय कवच की जाप एवं सवा करोड़ हवन आहुतियां के साथ संपन्न कराया जाएगा । उक्त कार्यक्रम में विश्व से श्रद्धालुओं की अधिक से अधिक संख्या में भागीदारी होगी और  1008  यजमान को भी पहले आओ पहले पाओ के लक्ष्य के अनुकूल इसमें विशिष्ट भागीदारी दी जाएगी। अयोध्या से प्राप्त विशेष  आशीर्वाद उपहार संकलन को मोदी मोमेंटो संग्रहालय राधा नगर  में आम जनता के दर्शनार्थ् रख दिया जाएगा ।
गौरतलब है कि राधानगर हनुमान मंदिर आश्रम परिसर में महात्मा शंभू सीकारिया द्वारा लाखों रुद्राक्ष से  शिवलिंग स्थापित किया गया है।शिवलिंग के दर्शनार्थ काफी लोग यहां आया करते और  जल चढ़ाते हैं। शिवलिंग के बगल में ही व्यास गद्दी का भी निर्माण हो चुका है जहां आचार्य शंभू नाथ सिकरिया द्वारा विभिन्न अध्यात्मिक विषय पर प्रवचन माला की श्रृंखला शिघ्र आरंभ  होने वाली है। जिले के प्रसिद्ध उद्योगपति से आध्यात्मिक गुरू बने महात्मा सिकारिया  लंबे समय तक एक राजनीतिक दल के समीप रहे हैं लेकिन अब ये विशुद्ध  रूप से आध्यात्म की ओर मुड चुके हैं। अब आध्यात्मिक क्रियाकलापों में इनकी विशेष रुचि रह गई है तथा स्वयं एक साधक और सन्यासी के रूप में अपना जीवन  निर्वहन कर रहे हैं। अपने परिसर में इन्होंने एक बड़ा ही आकर्षक गुफा पहाड बनाकर उसके बीच हनुमान मंदिर का निर्माण किया है।मंदिर मे श्रीराम जानकी की  आकर्षण मूर्ति भी लगी हुई है ।मंदिर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि मंदिर के ऊपर पहाड़ के दृश्य के बीच ये अपने माता-पिता एवं दिवंगत पत्नी की मुर्ति बड़े ही श्रद्धा के साथ स्थापित  की है ।विखरते पारिवारिक दौर मे इन्होने मां-पिता के प्रति  श्रद्धा एवं आस्था रखने की प्रेरणा नई पीढी को दी  है जो अति प्रशंसनीय है। गौरतलब है कि शंभू नाथ सिकरिया के ज्येस्ट पुत्र जमुना शिकारिया भाजपा के जाने-माने नेता है । नरेंद्र मोदी जी को प्राप्त देश-विदेश के महत्वपूर्ण उपहार को नेट से इन्होंने नीलामी के माध्यम से हासिल  करके उसे अपने म्यूजियम में बड़े हीं सुंदर ढंग से सजाकर स्थान दिया है। मयूजियम का नाम नमो गंगे नरेन्द्र मोदी म्यूजियम रखा है, इसको देखने के लिए काफी लोग आते हैं। जमुना सिकारिया को भी मंदिर द्वारा जारी विशेष डाक  टिकट संग्रह प्राप्त हुआ है  जो इस बात को प्रमाणित करता है कि अब राधा नगर जो एक  धर्मस्थल के रूप में स्थापित हो चुका है ,भारत सरकार के नजरों में है और  सिकारिया की अहमियत दिनों दिन काफी बढ़ती जा रही है।
13
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *