ध्यान से हर दुःख का अंत हो सकता है-भार्गव रेडी

3 Min Read
  • ध्यान योग्य यात्रा का आयोजन किया गया 
गया।गया शहर में ध्यान यात्रा सफल आयोजन किया गया ब्रह्मर्षि पितामह पत्राजी के मार्गदर्शन द्वारा पुरे बिहार में ध्यान यात्रा आज वर्णवाल सेवा सदन में इसका आयोजन किया गया दिप प्रवलजीत द्वारा किया गया है।इस मौके पर संबोधित करते हुए आंध्र प्रदेश से आए पुरे बिहार में ध्यान यात्रा सफल आयोजन को पुरी जानकारी दिए भार्गव रेडी ने कहा कि  मुक्ति के लिए तिन रास्ते हैं भक्ति मार्ग,सेवा मार्ग, ध्यान मार्ग में मुक्ति मिल सकता है कोई एक पकडो जिसमें सबसे अच्छा ध्यान मार्ग है। प्रार्थना अलग है ध्यान अलग है एक व्यक्ति आंध्र प्रदेश छोड़कर बिहार आया है ध्यान से बहुत चेजेज आएगा,मेजीरेटेशन से बहुत ही दुख को दुर किया जा सकता है।सेवा किया जा रहा है सोशल मिडिया में फेमस होने के लिए,सेवा भाव नि स्वार्थ होनी चाहिए लेकिन आज के समय सेवा भाव नही किया जा रहा है। ध्यान से स्वास्थ्य और मेण्टल एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ किया जा सकता है ध्यान से, सबकुछ हमारे हाथ में कि अपने को हर तरह स्वस्थ रहना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ध्यान करके पुरे देश को सभाल रहा है तो हमारे पास समय क्यों नहीं, मोबाइल का उपयोग कम करना होगा,एक घंटा में ध्यान करना चाहिए। जिनके पास रुपया है शाती नही है।आगे ध्यान नही करेगा,तो रुपया डा के पास लगेगा,एक इंसान का दस द्वारा होता है। ध्यान से नेगेटिव विचार चला जाएगा। ध्यान करना कोई समय नहीं है। सबसे अच्छा सबसे बह्मुरत में ध्यान सबसे अच्छा होता है।खाने के एक घंटे के बाद ध्यान करनी चाहिए।सास के उपर फोकस करना होगा, जितना साल आपकी उम्र है उसी मिनट ध्यान करना चाहिए। उससे ज्यादा भी ध्यान करना चाहिए।इस कार्यक्रम में राजीव साहा,भार्गव रेडी,भानु प्रसाद,दिनेश सिन्हा,आभा वर्णवाल ने ध्यान के बारे में पुरी तरह से सिखाई और ध्यान के बारे में पुरी जानकारी लोगों को दी आगमी सितंबर में विधवत भव्य रुप से भगवान बुद्ध कि झान स्थली में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा तिन व्यक्त पुरी रुप से बताया जाएगा।इस कार्यक्रम में  नीता वर्णवाल,प्रतिभा आर्या,डा बच्चु लाल,नारायण प्रसाद,मनोज कुमार काफी संख्या में लोग महिला और पुरुष उपिस्थत थे।
12
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *