एमकेडी पब्लिक स्कूल के तीन छात्रों ने जेई परीक्षा में मारी बाजी

4 Min Read
बच्चों के सर्वांगीण विकास से देश मजबूत होगा : डाॅ. चंद्रलता 
अशोक वर्मा
मोतिहारी : बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए सतत प्रयत्नशील शहर के एम.के. डी. पब्लिक स्कूल के छात्रों की नित्य नई उपलब्धियों से जिले के लोग गौरवान्वित हैं। शिक्षा के साथ विद्यालय की छात्र-छात्राएँ कला- संगीत व खेलकूद की विभिन्न प्रतियोगिता में लगातार परचम लहरा विद्यालय एवं जिले का नाम रौशन करते आ रहे हैं।
इसी कड़ी में विद्यालय के तीन प्रतिभावान छात्रों ने जेई मेन परीक्षा में अधिकतम अंकों के साथ बाजी मार विद्यालय का मानवर्धन किया है। इस विद्यालय के 12 वीं के छात्र आयुष रंजन झा ने 96.55 प्रतिशत, रौशन कुमार ने 97.86 प्रतिशत तथा शिवम कुमार झा ने 99.02 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है। तीनों छात्रों की इस शानदार सफलता पर विद्यालय परिवार तथा इनके माता-पिता व परिजनों के बीच हर्षोल्लास का माहौल है। छात्रों की इस सफलता से गदगद विद्यालय की निदेशक डाॅ. चन्द्रलता झा ने इन मेधावी छात्रों को बधाई दी तथा इनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि जेई परीक्षा में अव्वल आए इन छात्रों ने विद्यालय-परिवार एवं जिले का मान बढ़ाया है। डाॅ. झा ने कहा कि इन छात्रों की सफलता से नयी पीढ़ी के छात्रों को प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने कहा कि इन प्रतिभावान छात्रों को भविष्य में आगे बढ़ने के लिए विद्यालय प्रबंधन तथा व्यक्तिगत तौर पर उनकी ओर से हरसंभव यथोचित सहयोग किया जाएगा।
     विद्यालय की निदेशक डाॅ. झा ने कहा कि छात्रों के व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास के लिए एम.के.डी. पब्लिक स्कूल में पढ़ाई के साथ कला- संगीत एवं खेलकूद में अभिरूचि के लिए सदैव प्रेरित कर उन्हें समय-समय पर उचित अवसर उपलब्ध कराया जाता है। उन्होंने कहा कि विगत दिनों विद्यालय के तीन छात्र राज्य-स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता में चयनित किए गए थे । वहीं पूर्वी एवं पश्चिम चंपारण सीबीएसई स्कूल स्तर पर चंपारण सहोदया स्कूल कांप्लेक्स में आयोजित जिलास्तरीय क्विज प्रतियोगिता में विद्यालय के छात्रों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया था। उक्त अवसर पर सीबीएसई के रीजनल ऑफिसर ने विद्यालय के प्राचार्य डाॅ. एन. पाण्डेय को शानदार प्रदर्शन के लिए प्रशस्ति-पत्र देकर  सम्मानित भी किया था। निदेशक डाॅ. झा ने कहा जिले में सरकारी एवं निजी स्तर पर आयोजित संगीत, वाद-विवाद एवं खेलकूद से जुड़े प्रतियोगिताओं में विधालय के छात्र भाग लेते रहे हैं तथा सदैव अव्वल स्थान प्राप्त कर इतिहास रच विद्यालय का मानवर्धन करते हैं। जिले की सांस्कृतिक व सामाजिक गतिविधियों की जानी- मानी स्तंभ व विद्यालय की निदेशक डाॅ. झा ने कहा कि सशक्त भारत के निर्माण के लिए वर्तमान दौर की युवा पीढ़ी को सिलेबस की शिक्षा के साथ परंपरागत संस्कृति, इतिहास, पारिवारिक मूल्य, नैतिक- बोध एवं रीति-रिवाज से अवगत करा उन्हें संस्कारित करना बेहद आवश्यक है और इसकी जिम्मेवारी प्रत्येक शिक्षण संस्थानों की बनती है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में उनका विद्यालय नयी पीढ़ी को शिक्षित करने के साथ युवाओं के व्यक्तित्व के बहुआयामी विकास के दृष्टिकोण से हर संभव प्रयास कर रहा है।
15
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *