नीतीश को देखकर गिरगिट कहेगा मुझे शर्म आती है : असदुद्दीन ओवैसी

3 Min Read

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को बिहार के किशनगंज में सभा को संबोधित किया।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पाला बदलने में सीएम नीतीश गिरगिट से कम नहीं हैं। गिरगिट जिस तरह से रंग बदलता है, ठीक उसी तरह नीतीश कुमार भी कभी राजद कभी भाजपा की तरफ पलटा-पलटी करते रहते हैं।

ओवैसी ने आगे कहा कि नीतीश कुमार से पूछेंगे तो अल्फाज चाप-चाप कर बोलेंगे कि हम मर जाएंगे, लेकिन वापस उधर नहीं जाएंगे। नीतीश कुमार और गिरगिट को सामने रखा जाए तो गिरगिट कहेगा मुझे इससे शर्म आती है।

उन्होंने तेजस्वी पर भी तंज कसा, कहा- वो गरसुल्ला समझकर हमारे 4 विधायकों को खा गए।

दरअसल, औवेसी शुक्रवार को दिवसीय दौरे पर किशनगंज पहुंचे थे। उन्होंने जिले के पौआखाली में जनसभा को संबोधित करते हुए मजाकिया लहजे में कहा कि सुनने में आया है कि घड़ी में शाम के पांच बजते हैं तो नीतीश कुमार बोलते हैं कि सुबह के पांच बज रहे हैं। अब सच क्या है, मुझे नहीं मालूम।

ओवैसी ने वर्तमान में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर जमकर निशाना साधा। साथ ही उन्होंने अपने चार विधायकों के टूटने के लिए तेजस्वी तो जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि नोटों के बल पर मेरे चारों विधायक को खरीद लिया गया है। आखिर क्या हुआ जो तेजस्वी यादव को उसके चाचा छोड़कर चले गए।

AIMIM प्रमुख ने कहा कि तेजस्वी से पूछेंगे तो वे बोलेंगे कि चाचा हमको छोड़कर क्यों गए, नहीं मालूम। नीतीश कुमार सुबह कुछ और बोलेंगे और शाम होते-होते पलट जाएंगे।

जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि जब तुम सत्ता में चाचा के साथ आए थे तो हाथ और गले मिलकर चल रहे थे। कह रहे थे यह कर देंगे.. वह कर देंगे, लेकिन सत्ता में बने रहने के लिए सीमांचल की जनता को ये चाचा-भतीजा ठगते रहे। वे अब सारी विश्वसनीयता खो चुके हैं।

​​​​​​​ओवैसी ने कहा कि मैं सीमांचल आकर सीमांचल की विकास के लिए लड़ता हूं। उनके हित की बात करता हूं और लड़ता रहूंगा। आगामी लोकसभा चुनाव पार्टी मजबूती के साथ लड़ेगी। हम लोकसभा की अधिक संसदीय सीटों पर उम्मीदवार उतारने की सोच रहे हैं, क्योंकि मैं जानता हूं कि आप (बिहार विपक्ष) भाजपा को नहीं रोक सकते।

उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि मजलिस को मजबूत करें ताकि आपकी आवाज लोकसभा में भी सुनी जा सके और हम PM मोदी के 370 सीटों के सपने को रोक सकें।

16
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *