बिहार के स्वास्थय व्यवस्था की खुली पोल : एम्बुलेंस के इंतजार में प्रसूता की हुई मौत।

2 Min Read

मामला बिहार के बेतिया जिले का है जहां नरकटियागंज अनुमंडलीय अस्पताल में शनिवार शाम प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। प्रसूता के परिजनों ने अस्पताल के डॉक्टर और एएनएम पर पैदाइशी के दौरान लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर जमकर बवाल काटा।

वही परिजनों का हंगामा देख प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.संजीव कुमार समेत सभी कर्मी अपने-अपने कक्ष से फरार हो गए। हालांकि हंगामा की सूचना पर पहुंची शिकारपुर पुलिस ने आक्रोशितों परिजनों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया।

मृतका की पहचान शिकारपुर थाना क्षेत्र के धुमनगर लाली गढ़ही निवासी शत्रुघ्न कुशवाहा की 27 वर्षीय पत्नी सुंदरम देवी के रूप में की गई है। वहीं हंगामा कर रहे परिजनों ने बताया कि वे लोग प्रसूता को लेकर शनिवार को 11 बजे दिन में अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचे। जहां उसे भर्ती कर लिया गया और नार्मल डिलीवरी कराए जाने की बात कही गई। बाद में उसकी स्थिति गंभीर बताकर अल्ट्रासाउंड कराने को कहा गया जिसके लिए उनसे रुपए की मांग की जाने लगी।
परिजनो ने बताया कि प्रसूता को ऑक्सीजन नहीं चढ़ाया गया। बाद में उसे रेफर कर दिया गया। परिजन एम्बुलेंस को लेकर भटकते रहे थे। लेकिन उन्हें एम्बुलेंस नहीं मिली। जबकि अस्पताल परिसर में ही दो एंबुलेश खरी थी। बाद में प्रसव वार्ड से ही मृत हो चुकी प्रसूता को उन्हें सौंप दिया गया।

वहीं प्रसूत को लेकर पहुंची आशा कार्यकर्ताओं का कहना था कि वह लोग जब अस्पताल में प्रसव को लेकर मरिजों को पहुंचते हैं तो उनसे रुपए दिलाने का दबाव दिया जाता है। आज भी वही हुआ। उसकी स्थिति गंभीर बता दिया गया और पेट दबा कर जबरन पैदाइशी कराई गई।

10
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *