अधिक संख्या में मातृ वंदन योजना के लाभुको जोड़ने की नसीहत

2 Min Read
  • स्वास्थ्य समीक्षा बैठक में विभिन्न कार्यक्रमों पर हुई चर्चा
  • फाइलेरिया अभियान में सजग रहकर जागरुकता का निर्देश
वैशाली। स्वास्थ्य सेवाओं में हुए कार्य और उनकी बेहतरी के लिए समाहारणालय सभागार में शनिवार को मासिक समीक्षात्मक बैठक की गयी। इस बैठक की अगुवाई जिलाधिकारी यशपाल मीणा के निर्देश पर उप विकास आयुक्त चित्रगुप्त कुमार ने की। उप विकास आयुक्त कुमार ने समीक्षा बैठक के दौरान स्वास्थ्य के विभिन्न मानकों के डेटा को और समृद्ध करने के निर्देश के साथ मातृ वंदन योजना के तहत प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधकों को और लाभुकों को जोड़ने को कहा। उन्होंने कहा कि इस योजना से ज्यादा संख्या में महिलाओं के जुड़ने से गर्भवती एवं बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण को बल मिलेगा। इसके अलावा डीडीसी ने परिवार नियोजन, शिशु टीकाकरण में वृद्धि करते हुए भविष्य में इसके समृद्ध आंकड़ों की मंशा जाहिर की। सिविल सर्जन डॉ श्यामनंदन प्रसाद ने डीडीसी को बताया कि अभी जिला प्रेग्नेंट वीमेन और चाइल्ड रजिस्ट्रेशन में राज्य में तीसरे नंबर पर है। डीडीसी ने मातृ किशोरी एवं शिशु स्वास्थ्य के लिए बुनियादी सुविधाओं को और दुरुस्त करने को कहा। समीक्षा बैठक के दौरान अल्ट्रासाउंड, एनएसभी पखवाड़ा, ब्लड कैंप, ओपीडी चाइल्ड इम्युनाइजेशन सहित अन्य कार्यक्रमों की समीक्षा की गयी।
फाइलेरिया अभियान में अधिक से अधिक को करें जागरुक:
डीडीसी ने 10 फरवरी से शुरु होने वाले फाइलेरिया अभियान को एक सुदृढ़ माइक्रोप्लान के तहत अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने की बात कही। इससे दवा खाने की स्वीकार्यता में तेजी के साथ फाइलेरिया उन्मूलन को भी सही दिशा मिलेगी। बैठक में सिविल सर्जन डॉ श्यामनंदन प्रसाद, एसीएमओ डॉ अनिल शर्मा, डीआइओ डॉ उदय नारायण सिंहा, डीपीएम डॉ कुमार मनोज, डीसीएम डॉ निभा रानी सिंहा, पिरामल प्रतिनिधि, हेल्थ एजुकेटर राकेश कुमार सिंह सहित अन्य स्वास्थ्यकर्मी सहित पदाधिकारी मौजूद थे।
13
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *