बिहार में तीन बच्चों की माँ को तीन लोगो से हुआ प्यार, फिर दो के साथ मिलकर तीसरे की कर दी हत्या

4 Min Read

खगड़िया में एक महिला ने अपने दो प्रेमियों से मिलकर तीसरे प्रेमी की हत्या करा दी। महिला के तीन बच्चे थे। पति दिल्ली में कॉरपेंटर का काम करता है। हत्या की साजिश रचने के बाद महिला ने तीसरे प्रेमी को बुलाया था।

फिर एक प्रेमी ने डंडे से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी। बाद में दूसरा प्रेमी को फोन करके बुलाया गया। दोनों प्रेमियों ने तीसरे को दूर ले जाकर केबल बॉक्स में छिपा दिया। पुलिस ने इस मामले में महिला और उसके दो प्रेमियों को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना जिले के परबत्ता प्रखंड स्थित भरतखंड थाना क्षेत्र के थेभाय गांव की है। भरतखंड के थानाध्यक्ष रोशन प्रसाद ने बताया कि मनोज शर्मा की हत्या मामले में पूजा देवी नामक महिला और उसके दो प्रेमी भरसों पंचायत के थेभाय गांव निवासी अखिलेश दास और मिथुन शर्मा को गिरफ्तार किया गया है।

थानाध्यक्ष रोशन प्रसाद ने बताया कि महिला पूजा देवी तीन बच्चों की मां है। मनोज शर्मा उसका तीसरा प्रेमी था, जिसके साथ महिला का अवैध संबंध था। 8 जनवरी की रात महिला के बुलावे पर मनोज गांव के ही बगीचे में गया था। वहां पहले से मौजूद अखिलेश दास और मिथुन शर्मा ने मिलकर पीट-पीटकर हत्या कर दी। शव को अकहा ढाला से 200 मीटर दूर एक केबल बॉक्स में छिपा दिया।

बताया जाता है कि हत्यारोपी अखिलेश दास पूजा देवी का पहला प्रेमी है, जिसकी मनोज शर्मा से पुरानी दुश्मनी थी। जबकि मिथुन शर्मा, पूजा देवी का दूसरा प्रेमी है। पूजा देवी का पति दिल्ली में कारपेंटर का काम करता है। मनोज शर्मा के साथ पूजा देवी के संबंध की जानकारी अखिलेश दास को थी। इसलिए उसने महिला के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी।

मनोज शर्मा के लापता होने के बाद पत्नी ललिता देवी ने थाना में आवेदन दिया था। उसने पुलिस को बताया कि 8 जनवरी की रात से पति मनोज शर्मा लापता है। 10 जनवरी की शाम बगीचे में उनका खून से लथपथ कपड़े मिले थे, जिसके बाद पुलिस ने जांच की। पुलिस की जांच में पता चला कि मनोज शर्मा को पूजा देवी ने बुलाया था।

पुलिस पूछताछ में पूजा ने बताया कि मनोज से हम फोन पर बात करते थे। कभी वो फोन करता था तो कभी हम फोन करते थे। वह गलत बात भी करता था। 8 जनवरी को मैंने मनोज को फोन किया। उसने मुझे अपने घर पर बुलाया था, लेकिन हम घर पर नहीं गए। इसके बाद बगान में बुलाया। वहीं पर अखिलेश भी छुपा था। मनोज को जाते हुए देख लिया था। जैसे ही हम वहां पहुंचे कि अखिलेश ने मनोज को पीछे से डंडा से सिर पर मार दिया।

मनोज भागने का कोशिश किया, लेकिन अखिलेश उसको पकड़कर मारकर बेहोश कर दिया। डंडा और ईंट से मारकर चेहरा खराब कर दिया। इसके बाद अखिलेश मिथुन को फोन करने महिला को बोला। मिथुन के आने के बाद वो बोला की तुम घर जाओ। हम वहां से चले गए। फिर पता नहीं ये दोनों उसको उठाकर कहां रखा।

18
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *