बिहार में चलते-चलते दो हिस्सों बंट गई ट्रेन, चिल्लाने लगे अंदर बैठे यात्री और फिर…

3 Min Read

बिहार के सहरसा से एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां एक बड़ा रेल हादसा होते होते बच गया है. यहां सहरसा से पाटलिपुत्र जा रही जनहित एक्सप्रेस का हुक टूट गया. इसके बाद ट्रेन दो हिस्सों में बंटकर ट्रैक पर दौड़ने लगी. इसकी जानकारी यात्रियों को हुई तो हड़कंप मच गया. गनीमत रही कि घटना के वक्त ट्रेन की स्पीड कम थी, इसलिए कुछ दूर तक ट्रैक पर दौड़ने के बाद दोनों हिस्से थम गए. इसके बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली.

बाद में ट्रेन का इंजन से जुड़ा हिस्सा कोपरिया स्टेशन ले जाया गया. यह घटना बुधवार की रात करीब 12 बजे की है. जानकारी के मुताबिक सहरसा से जनहित एक्सप्रेस रात में करीब 11:20 बजे पाटलिपुत्र जाने के लिए रवाना हुई. जैसे ही यह ट्रेन सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन से आगे निकली और कोपरिया पहुंचने वाली थी कि करीब 12 बजे अचानक तेज का झटका लगा और इस ट्रेन का हुक टूट गया. इसकी वजह से इंजन के पीछे एस 3 तक तो डिब्बे जुड़े रहे, लेकिन इसके बाद वाले डिब्बे अलग हो गए.

यात्रियों के मुताबिक इस हादसे के बाद इंजन से जुड़े डिब्बा तो ट्रेक पर दौड़ ही रहे थे, ट्रेन का दूसरा हिस्सा भी पीछे पीछे उसी स्पीड में चलता रहा. यात्रियों के मुताबिक अचानक से लगे जोर के झटके की वजह से ट्रेन के दोनों हिस्सों में बैठे यात्रियों में हड़कंप मच गया. लोग अपनी जान बचाने के लिए भगवान से गुहार करने लगे. गनीमत रही कि घटना के वक्त भीषण कोहरा था. इसकी वजह से ट्रेन की स्पीड भी बहुत कम थी.

ऐसे में ट्रेन के दोनों हिस्से कुछ दूर आगे जाकर धीरे धीरे अपने से रूक गए. इस घटना में किसी तरह के जान माल के नुकसान की सूचना नहीं है. हालांकि ट्रेन में सवार यात्रियों के मन में अभी भी हादसे का डर बैठ गया है. उधर, घटना की जानकारी मिलने पर रेलवे के अधिकारियों में भी हड़कंप मच गया. आनन फानन में मौके पर अधिकारी और कर्मचारी पहुंचे.

मरम्मत कार्य किया गया और सबसे पहले इंजन से जुड़े हिस्से को अगले स्टेशन पर भेजने के बाद दूसरा इंजन मंगाकर पीछे वाले हिस्से को ले जाया गया. इस बीच तकरीबन तीन घंटे तक कोपरिया स्टेशन पर जनहित एक्सप्रेस ट्रेन रुकी रही. वहीं रेलमार्ग कुछ देर के लिए ठप होने की वजह से पाटलिपुत्र से दिल्ली, जम्मू, मुंबई आदि जगहों के लिए यात्रा करने वाले यात्रियों को विलंब का सामना करना पड़ा.

12
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *