फाइलेरिया मरीजों की खोज के लिए जिले में नाइट ब्लड सर्वे शुरु 

3 Min Read
  • जनप्रतिनिधि व अधिकारियों ने कराई रक्त की जाँच
  • महादलित टोलों में भी लगा रक्त जाँच शिविर
  • रात 8:30 से 12 बजे के बीच संग्रह किये जाते हैं रक्त के नमूने 
  • नाइट ब्लड सर्वे के बाद 10 फ़रवरी से चलेगा सर्वजन दवा सेवन कार्यक्रम 
मोतिहारी : फाइलेरिया परजीवी की खोज को लेकर जनसमुदाय को जागरूक करते हुए जिले के प्रखंडों में नाइट ब्लड सर्वे की शुरुआत सोमवार रात 8:30 बजे से की गयी। इस दौरान प्रखंडों में सेंटिनल एवं रैंडम साइट से लैब टेक्नीशियन द्वारा लोगों का रक्त संग्रह कर उनमें मौजूद छिपे हुए फाइलेरिया परजीवी की खोज की जा रही है, ताकि उन्हें चिन्हित कर उनका इलाज किया जा सके। इस सम्बन्ध में जिला भीबीडीसीओ डॉ शरतचंद्र शर्मा ने बताया कि फाइलेरिया( हाथी पाँव) एक गंभीर रोग है जो मादा क्यूलेक्स मच्छर के काटने से फैलता है। आमतौर पर फाइलेरिया के लक्षण शुरू में स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं देते। इसके लक्षण आने में कभी कभी सालों लग जाते हैं। प्रायः फाइलेरिया मरीजों में बुखार, बदन में सूजन, घाव की समस्या दिखाई देती है। इस बीमारी में पैरों और हाथों में सूजन, हाथीपांव और अंडकोषों की सूजन आदि फाइलेरिया के लक्षण होते हैं। फाइलेरिया हो जाने के बाद धीरे-धीरे यह गंभीर रूप लेने लगता है। इससे बचाव के लिए विभाग द्वारा जिले में नाइट ब्लड सर्वे कराया जा रहा है। ताकि फाइलेरिया मरीजों की पहचान हो सके। उन्होंने बताया कि सर्वे समाप्त होने के बाद बिहार के फाइलेरिया से प्रभावित क्षेत्रों में 10 फ़रवरी 2024 से सर्वजन दवा सेवन कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। जिसमें 2 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को अल्बेंडाजोल एवं डीईसी की गोली आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व स्वास्थ्यकर्मियों की देखरेख में खिलाई जाएगी।
जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने कराई रक्त की जाँच
नाईट ब्लड सर्वे साइट महादलित टोला सुन्दरापुर केसरिया में प्रथम दिन प्रखंड विकास पदाधिकारी मनीष कुमार सिंह द्वारा साईट का विधिवत उद्घाटन किया गया, इस अवसर पर उन्होंने खुद अपनी जांच करायी। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया का परजीवी किसी के भी शरीर में मौजूद हो सकता है, इसकी पहचान नाईट ब्लड सर्वे के दौरान ही सम्भव है। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया उन्मूलन के लिए नाइट ब्लड सर्वे जरूरी है। इसलिए मैं सभी से अपील करता हूँ कि नाईट ब्लड सर्वे में रक्त जाँच कराएँ। सर्वजन दवा सेवन कार्यक्रम के दौरान दवा जरूर खाएँ। वहीं चिरैया प्रखंड में नाईट ब्लड सर्वे का उद्घाटन मुखिया गनौर पासवान ने किया जहाँ वार्ड सदस्य मनीभूषण कुमार ने भी रक्त जाँच कराया। इस मौके पर आशा, एलटी, बीसीएम व अन्य लोग मौजूद थे।
10
Share This Article
Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *